Home: उत्तर प्रदेश क्राइम
देखी है कभी ऐसी बारात! न घोड़ा, न गाड़ी… दुल्हन को नाव पर विदा करा ले गए दूल्हे राजा

देखी है कभी ऐसी बारात! न घोड़ा, न गाड़ी… दुल्हन को नाव पर विदा करा ले गए दूल्हे राजा

उत्तर प्रदेश | क्राइम | 7/11/2024, 1:44 AM | Ground Zero Official

महराजगंज: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ के कहर के बीच शादियों का सीजन भी चल रहा है. ऐसे में शादी में खलल पड़ रहा है. इस बाढ़ के बीच जिले में अनोखी शादी और बारात की तस्वीर सामने आई है. बाढ़ की वजह से दूल्हे को अपनी बारात नाव से ले जानी पड़ी. शादी के बाद दुल्हन को भी नाव से लेकर दुल्हा अपने घर पहुंचा.

जानकारी के मुताबिक, नौतनवा थाना क्षेत्र स्थित बेरवा बनकटा निवासी विजय यादव की कल यानि 9 जुलाई की शादी थी. तेज बारिश की वजह से सड़कों पर पानी भरे होने के कारण विजय की बारात नाव से ले जाने का फैसला हुआ. मंगलवार रात में जब दूल्हे राजा और बाराती सवार नदी का पानी देखकर सहम गए. हालांकि दूल्हे राजा देर रात बारातियों संग नदी के रास्ते ससुराल सेमरहवा पहुंच गए. यहां नदी पर ससुराल के लोगों ने बारातियों का स्वागत किया. शादी की रस्में होने के बाद बुधवार को दूल्हा अपनी दुल्हन को नाव में ही लेकर गांव पहुंचा. दुल्हन का भी नदी के घाट पर स्वागत किया गया.

दरसअल सेमरहवा गांव नौतनवा तहसील क्षेत्र में पड़ता है और यहां की आबादी लगभग 7000 के करीब है. यह गांव एक तरफ जंगल से घिरा है तो दूसरी तरफ नेपाल से बहकर आने वाली रोहिणी नदी बहती है. ऐसे में यहां के लोग रोहिणी नदी को पार कर अपने रोजमर्रा के काम करते हैं. पुल न होने के वजह से इस गांव में दूसरे गांव के रहने वाले लोग अपनी बेटियों का ब्याह किसी भी कीमत पर नहीं करना चाहते हैं. यही वजह है कि जब भी यहां पर मांगलिक कार्यक्रम होता है तो वर और वधू पक्ष अपनी जान को जोखिम में डालकर शादी विवाह के रस्मों को निभाते हैं. दूल्हा विजय यादव ने बताया कि सेमरवा गांव में नाव से आने जाने में बहुत दिक्कत होती है. गाड़ी हम सब लोग बाहर खड़ा किए हैं और हम लोग नाव से आए हैं.

LATEST